Register Now

Login

Lost Password

Lost your password? Please enter your email address. You will receive a link and will create a new password via email.

Bhojpuri Shayari, Latest Bhojpuri Love Romantic Shayari Status & SMS

Bhojpuri Shayari, Latest Bhojpuri Love Romantic Shayari Status & SMS

Bhojpuri Shayari:-Enjoy the Latest Selected  Bhojpuri Shayari -bhojpuri shayari photo Bihari attitude status photo thats gives you Attitude & love status through which you can express your Thoughts. Everyone just copy and paste to your social Accounts to show your life updates.

 

खालीयो शिशा मे निशान रह जाला,
टूटल दिल मे भी अरमान रह जाला..!
जवन खामोशी से गुजर जाला,
उ दरिय़ा भी आपन दिल मे तूफान राखेला..!!

 

मौसम क मिसाल देही या तोहार..!
केहू पूछत बा कि बदले केकरा आवेला..!!

 

दिल क ज़िद बाड़ तु…!
ना त ई आँख केतने हसीन चेहरा देखले बा !!

 

हमरे मन क कमरा जवन कहिये से खाली पड़ल बा..!
ओके तहार क़दम क आहट भी, शोर जइनस लागेला..!!

 

‘बेशक’ हमार जिनगी तहरा साथ क मोहताज नईखे, !
पर ई ‘दिल’ मे तोहार एहसास के तलबगार आज भी बा.. !!

 

ऊ काजल रहे-हमरे आँख क..
आंसू मे घुल के बह आईल..!
आऊर ठहर गईल रहे हमरा हथेली पर..
जइसे ऎगो बूंद करीया मोती लेखा..!!

 

बिन बात के रूठे क आदत रहे,
केहू आपन क साथ पावे क चाहत रहे,
तु खुश रहअ, हमार का..!
हम त आइना हई,
हमके त टूटे क आदत हवे..!!

 

 

आँसू क समन्दर ख़रीदे में,हर सुकून गवां दिहली हम..!
ई दर्द का समा,बड़ी मुश्किल से कमइले बानी हम..!!

 

 

केतना भीड़ बा तहरा दिल में कइसे रहब ओहमा ?
हमरा भीड़ में रहे क आदत भी त नइखे !!..

 

हम आउर हमार चाँद..
अक्सर अधियारी रतिया में..!
एक-दुसरा के बात में डूबके..
जागल करी ल जा रात भर..!!

 

मुहबतखेलहअइसनिकहारोजीतलागेला . भुलाजालासबेकुछआदमीजबीतलागेला . अगरजेयारसेिमलेतमाडो-भातखालेनी . मगरजेभावनाहोखेिमठाईतीतलागेला…

 

चलअ अच्छा भइल अब सुकून से त सुत सकेली हम..!
बड़ी मुश्किल से आज दिल क मकांन खाली मिलल बा..!!

 

जिनगी एगो सच्चाई ह जिये वाला खातिर ,
जिनगी एगो सीख ह पछताये वाला खातिर !
जिनगी त हमेशा काम करे ला आईना के ,
जिनगी एगो दोस्त मित्र ह जिये वाला खातिर !!

 

कुछ फासला खाली आंख से होला,
बाकी दिल क फासला खाली बात से होला,!
केहू लाख भूले के कोशिश करे,
बाकी कुछ रिश्ता खतम खाली साँस से होला,!!

 

आपन मीठ नींद से छुट्टी लेके ,
ए दिल के हम जरा दिहली ..!
ना तू जनल ,ना हम समझली ,
कि के केकरा के सजा दिहलस..!!

 

मोहबत पर य़ेतना यकिन ना रहे जेतना तहरा पर बा ,
बस येतना खयाल रखिह अगर वफा ना सकेल त धोखा भी मत दीह !!..

 

तन्हाई के हद के कवनो हिसाब काहे नईखे,
किस्मत के सवाल के कवनो जबाब काहे नईखे ..?

 

कइसे खतम कर सकीला उनका से आपन रिसता,
जिनका बारे मे बस सोचते ही सारा दुनिय़ा भूल जाइला हम…

 

केतना आसानी से कह देहला तु ..की तोहके भूल जाई … कईसे भूल जाई तोहके… जबकि तु हमरे हर सांस हर धड़कन में शामाईल बानी ….. कईसे भूल सकेला कोई सांस लेवे
कैईसे रुक सकेला ई दिल के धड़कन…. तोहके भूलले से अच्छा बा..
ई साँस के भूल जाई… इ धड़कन के भूल जाई…

 

ऊ जमीं नइखे आसमां नइखे
अजी अब मनवा कईसे लागो
उ हीत नइखे उ मीत नइखे
सभे अझुराईले बा एहिजा त
मन भुलाइल बा परीत जईसे !!..

 

सब त रूठ ले रहल हमसे , एगो तू हु रूठ गईला त कउनो बात नाही !
हम त कबसे रहली एकेलै , जे तुहूँ छोड़ गईला त कउनो बात नाही !!

 

पलक में आँशु के सजावल ना गईल,
उनको के भी दिल के हाल बतावल ना गईल !
जख्म से चूर चूर रहुये ई कलेजा हमार,
बाकिर एगो जख्म उनका से देखावल ना गईल. !!…

 

कबो हमरा दिलवा के भी समझ,
तू त थामे से पाहिले ही हाथ छोड़ावे लगलू !
हम त कब के ही मर जईति,
तू आके हमरा जिन्दगी में हमके जियावे लगलू !!

 

एक दिन उनका के ना देखनी त दिल उदास हो गाईल
थोरेही देर मे उ ईतना खास हो गैइले
अब तक त पता ना रहे हमरा
बाकिर उनका जुदाई के बाद ए एहसास हो गैईल…

 

अब सोचे के पड़ी की केकरा से दिल लगाई,
ई दुनिओ त इहे सोचत बा.
कुछ पूरान यादन के दिल से निकले के खातिर,
आज दिल फेरु से धडकत बा…

 

ऐ घाम के आग, पहीले त बर्दाश ना होत रहे,
अब घाम के भी, दिली-आग जरावे लागल बा।
बिगहा पार देखल भी, मुश्कील हो गईल तब से,
जब से मनवा केहु के, दर्शन करावे लगल बा।।…

 

सोचतानी कइसे उनुके भुलायेब हम,
अब अपना दिल के कैसे समझायिब हम,
ऊ ता बस छोड़ के चल देहली ,
अब जीए खातिर कवन उपाय लगायिब हम …

 

दिया जरईला से अगर अन्हार दुर होइत
त चान्द सुरज के जरुरत काहे
प्यार मोहब्बत से कट जाईत् जिनगी
फेरु दोस्ती के जरुरत काहे..

 

केहु के प्यार मे पियल ज़हरियो नीक़ लागेला,
अंज़ोरिया त अंज़ोरिये ह अन्हरिओ नीक लागेला !!…

 

दर्द बा केतना बताई कइसे
अब तू ही बता द भुलाई कइसे…

 

सांस टूट रहल बा, लेकिन आस अभी बाकी बा
मन तडफडा रहल बा , हमार प्यास अभी बाकी बा
तु हरदम बाडु हमरा संगे, ई एहसास अभी बाकी बा
इंतेजार रही मुवे घरी ले काहे की सांस अभी बाकी बा..

 

काहे बनावत बाडू बालू पर महल, एक दिन खुदे मितायिबू तू ,
आज कहबू की हमरा से प्यार बा तहरा, एक दिन हमार नाम तक भूल जई बू तू…

 

सांस रुक जाई त रुक जाई जिंदगी
हर सांस में तू ही समाइल बाडू
ह्र दिन करी जतन भूल जाए खातिर
एक पल भी कहाँ तू भुलैइल बाडू…

 

का कही कुच्छ कहाते नईखे,
अकेले ज़िंदगी अब काटाते नईखे,
एक-एक पल कैसे गुज़रता उनका बिना,
ई-दुनिया वालन के बुझाते नईखे !…

 

बेबफा तोहरे चलते प्यार में बदनाम हो गईनी..!
झुठो के किरिया खईलु झुठो के वादा कईलु..,
हम त जियते निलाम हो गईनी..!!

 

अलोता मे मुह तोप के रोवे सीख गईनी
बिना बोवले बहुत कुछ काटे सीख गईनी
कुछ मालुम ना रहे हमरा जब देखनी एह संसार के
लेकिन कुछ जाना के चलते कुछ जाना के धोवे सीख गईनी…

 

दर्द के केहु से बतावे के जरुरत का बा
केहु के दिल से भुलावे के जरुरत का बा
जब नेह लागल तोहरा से ए गोरिया
त आजु जिही आ मरी देखावे के जरुरत का बा

 

चिन्टू एक मोबाईल दूकान पे जा के दूकानदार से-
NOKIA के बडा स्क्रीन मे एगो मोबाईल द§
दूकानदार बडा स्क्रीन के मोबाईल निकाल देहलस§
चिन्टू- मो. ON करके कुछ देख के बोललस कि
एह से भी बडा मेँ बा§
दूकानदार-ओ से भी बडा स्क्रीन के मो. देहलस$
चिन्टू-मो. ON करके कुछ देख के फिर ऊहे बात§
दूकानदार-खिसीयाके के कहलस कि ओ से बडा स्क्रीन ना आवेला आखिर तु करब§ का
चिन्टू-कुछ ना§ बस ON करते समय जवन 2आदमी हाथ मिलावेला ओकरे के पहचाने के बा.

 

पवन के छुअन से, केहु के एहसास होत बा,
ईहो अब अपना साथ, कुछ उडावे लागल बा।
अलगे एगो खुश्बु, साँस से दिल मे मिलत बा,
अउर हर महक, अब त बहकावे लागल बा।।

 

नजरअंदाज केतना करी उनके जे नजर के समने बा..!
उनकर का करी, जे दिले में बस गईल बा..!!

 

काहो नींद अब त आवल करअ, केहू नईखे अब हमरा पास..!
जेकरा खातीर तहरा के छोड़ले रहीं,
ऊ त अब छोड़ के चल गईनी..

 

अईसन परिंदन के कईद कईल हमार फितरत नईखे..!
जे हमरा दिल के पिंजरा में रहके भी केहू आउर के संग उड़े क
शउख रखे..!!

 

सब तरहे क सिकवा सह लेही ला,
जिनगी य़ेही तरे जी लेही ला..!
मिला लेही ला हाथ जेसे दोस्ती क,
ओइ हाथ से फिर जहरो पीये पड़ेला..!!

 

अगर खुशी मिलेला तोहके हमरा से दूर होके..!
त दुआ करब भगवान से, तोहके हम कबो ना मिलीं..!!

 

जिनिगी अब पहाड़ जइसन लागे लगल बा
सुखला में बाढ़ जइसे लागे लगल बा..!
कुछुओ कहाँ बा आपन अब, सब झूठीये के भरम बा
साँसो अब उधार जइसन लागे लगल बा..!!

 

Recent Post:-


About Pankaj Singh

Pankaj Singh is the Senior Developer and the Founder of ‘Latest Bhojpuriya’. He has a very deep interest in all current affairs topics whatsoever. Well, he is the power of our team and he lives in Delhi. who loves to be a self dependent person.

Leave a reply