Jitiya 2018: जितिया व्रत आज, शुभ मुहूर्त से लेकर विधि यहां जानें सब कुछ

By | October 2, 2018

Jitiya 2018: जितिया व्रत आज, शुभ मुहूर्त से लेकर विधि यहां जानें सब कुछ:- शाम को गाय के गोबर से घर लीपें। मिट्टी खोदकर तालाब बनाएं। मिट्टी या गोबर से चिल्ली और सियारिन की मूर्ति बनाएं उस पर लाल सिन्दूर लगाएं और बांस के पत्तों से पूजा करें। इस व्रत में माता जीवित्पुत्रिका और राजा जीमूतवाहन दोनो की सम्यक रुप से पूजा एवं पुत्रों की लम्बी आयु के लिए प्रार्थना की जाती है।

Watch: Kallu के सच्चे प्यार की दर्दभरा Video Song JAY MALA HOKHE SE PAHILE Released on Youtube

Jitiya 2018

Jitiya 2020

जितिया व्रत कब है?
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार जितिया व्रत अश्विन माह कृष्ण पक्ष की सप्तमी से नवमी तक मनाया जाता है. इस बार यह व्रत  10 सितंबर दिन गुरुवार को है।. व्रत का मुख्य दिन अष्टमी यानी कि 10 सितंबर को है.
जीवित्पुत्रिका व्रत यानी जीतिया, यह जीवित पुत्र के लिए रखा जाने वाला व्रत। संतान के दीर्घायु होने की कामना के साथ किया जाने वाला जीवितपुत्रिका व्रत अत्यंत कठिन है। इसमें व्रती निर्जला उपवास रखती हैं। व्रत के दौरान रात्रि जागरण, हिंदू पंचांग के अनुसार यह व्रत आश्विन माह कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है। आश्विन माह के कृष्ण पक्ष की सप्तमी से नवमी तिथि तक जिउतिया पर्व मनाया जाता है।
जिउतिया पर्व शुभ मुहूर्त–अष्टमी तिथि शुरू:-अष्टमी तिथि का प्रारंभ 09 सितंबर दिन बुधवार को दोपहर 01 बजकर 35 मिनट से हो रहा है, जो 10 सितंबर दिन गुरुवार को दोपहर 03 बजकर 04 मिनट तक है। व्रत का समय उदया तिथि में मान्य होगा, ऐसे में जीवित्पुत्रिका व्रत 10 सिंतबर को होगा। व्रत को करते समय केवल सूर्योदय से पहले ही खाया पिया जाता है। इस व्रत से पहले केवल मीठा भोजन ही किया जाता है। यह निर्जला व्रत होता है।

Watch : stree movie cast crew story and Releasing Date

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × four =